Subscribe Us

स्वस्थ रहेगा तन और मन



*डॉ.अनिल शर्मा'अनिल'

जीवन शैली  में  मानव  को, करना  होगा परिवर्तन।

तभी चलेगी मस्त जिंदगी स्वस्थ रहेगा तन और मन।।

प्रातः उठना और टहलना,नित्यकर्म  को निपटाना।

प्राणायाम,योग और संध्या - वंदन कर ही कुछ खाना।।

आयुष काढ़ा भी पी लेना, यह अमृत सा अनमोल रतन।

तभी चलेगी मस्त जिंदगी स्वस्थ रहेगा तन और मन।।

व्यापार, नौकरी की खातिर, जब भी निकलो बाहर घर से।

मुंह पर मास्क लगाना, गमछा भी लपेट लेना सिर से।। 

आंखों पर चश्मे को लगाना, ऐसे ही रहना बन ठन।

तभी चलेगी मस्त जिंदगी, स्वस्थ रहेगा तन और मन।।

हाथ मिलाना भूल ही जाना, रखना याद नमस्ते को।

भीड़भाड़ से  रहना बचकर, चलना सीधे रस्ते को।।

वायरसों से बचे रहोगे , ढक कर रखना अपना तन

जीवन शैली में मानव को, करना होगा परिवर्तन।

साफ-सफाई, हाथ धुलाई, और रखना दो गज की दूरी। 

इन नियमों के पालन की, कोशिश करना पूरी पूरी।।

इनमें लापरवाही जरा सी, ला सकती संकट में जीवन। 

जीवन शैली में मानव को करना होगा परिवर्तन।। 

बनी रहे इम्यूनिटी शरीर की, ऐसा ही खाना खाना। 

भक्ष्य,अभक्ष्य का ध्यान रहे,ये मन और जीभ न ललचाना।।

हल्का सुपाच्य और पौष्टिक,लेना शाकाहारी भोजन। 

तभी चलेगी मस्त जिंदगी स्वस्थ रहेगा तन और मन।।

 

डॉ.अनिल शर्मा'अनिल',धामपुर, उत्तर प्रदेश

 


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.comयूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां