Subscribe Us

तेरे एक कहानी लिख दूँ


✍️नीलम तोलानी

तू कहे तो नाम तेरे एक कहानी लिख दूँ आज,

याद में तेरी बहे जो,खारा पानी लिख दूँ आज।

 

आज कह दे दास्तां वो, है तलब सी सुनने की,

तू करे पूरी तमन्ना आसमानी लिख दूँ आज।

 

जो करे इकरार तू भी ,इश्क़ तुमसे है मुझे,

मद भरे मेरे लबों की मेजबानी लिख दूँ आज।

 

हुस्न भी है इश्क़ भी है,है कमी इकरार की,

जो मिली कतरो में मुझको जिंदगानी लिख दूँ आज।

 

गम में मेरे जो पली थी, हौसलों की चाह सी,

साथ मेरे जो रही,तेरी निशानी लिख दूँ आज।

 


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब हमारे वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां