Subscribe Us

रहेगा गर्व तुम पर




✍️डॉ. गोपाल कृष्‍ण भट्ट 'आकुल'


रहेगा गर्व तुम पर तुम सदा ही याद आओगे.


रहेगा नाम रोशन बन सितारा जगमगाओगे.


रहेगा गर्व तुम पर.....


दिया है श्रेष्‍ठ तुमने गर्व है भारत की माटी को.


बचाया तुमने जाँ देकर सदा कश्‍मीर घाटी को.


हवा भी गुनगुनाएगी किसी को जब बचाओगे.


रहेगा गर्व तुम पर.....


लिखा है नाम वीरों में कारगिल जीत में तुम थे,


खदेड़ा दुश्‍मनों को जब कभी रणनीत में तुम थे.


सुरक्षित देश तुम से वीर सेनानी कहाओगे......


रहेगा गर्व तुम पर.....


हुई है जब कभी नापाक कोशिश मात दी तुमने.


दबा दुम को भगा दुश्‍मन सदा जो घात दी तुमने.


सदा रणबाँकुरों सा कर्म तुम यूँ ही दिखाओगे.


रहेगा गर्व तुम पर.....


न आये वक्‍त ऐसा जब भितरघाती उठायें सिर.


न खौले रक्‍त घायल देश करने कह्र ढायें फिर.


भितरघाती भी दुश्‍मन हैं फर्ज अपना निभाओगे.        


रहेगा गर्व तुम पर.....


*कोटा (राजस्‍थान)


 


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां