Subscribe Us

पेड़ हर मोड़ पर  इक लगा दीजिए



✍️हमीद कानपुरी

पेड़ हर मोड़ पर  इक लगा दीजिए। 

कुछ धरा  का प्रदूषण घटा दीजिये। 

 

और  कुछ  खूबसूरत बना  दीजिए।

नफरतों  को वतन से हटा  दीजिए। 

 

बस चुके  हैं नगर नफरतों के बहुत,

प्यार के अब नगर कुछ बसा दीजिए।

 

अन्नदाता  हमारे  हैं मुफलिस बहुत,

अब किसानों को पूरा नफा दीजिए। 

 

ज़ह्न से  एक पल  को न जाये ख़ुदा,

इस तरह का कोई अब नशा दीजिए। 

 

कब्र गहरी कहीं इक बड़ी खोदकर, 

नफरतों  को उसी  में दबा  दीजिये।

 

*कानपुर

 


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां