Subscribe Us

डॉ गरिमा दुबे को मिला सूर्यकांत त्रिपाठी निराला सम्मान



साहित्यकार डॉ गरिमा संजय दुबे को भाषा, साहित्य, कला और संस्कृति के संरक्षण-संवर्धन के लिए समर्पित संस्था सर्व भाषा ट्रस्ट नई दिल्ली द्वारा उनकी प्रथम कृति कहानी संग्रह "दो ध्रुवों के बीच की आस " के लिए सूर्यकांत त्रिपाठी सम्मान 2019 से सम्मानित किया गया।यह सम्मान उन्हें संस्था के दूसरे  वार्षिकोत्सव , जो कि भव्य तरीके से गांधी शांति प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया , में प्रदान किया गया।  9 फरवरी को आयोजित वार्षिकोत्सव में देश के सभी प्रदेशों से लगभग 24 भाषाओं  व बोलियों के साहित्यकारों, भाषाविदों, चित्रकारों व अन्य विभूतियों को सम्मानित किया गया।  

संस्था अध्यक्ष वरिष्ठ साहित्यकार श्री अशोक लव व सचिव श्री केशव मोहन पांडे ने  सभी साहित्यकारों को उनकी उपलब्धि पर बधाई दी। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि  पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री शाहनवाज हुसैन की  धर्मपत्नी शिक्षाविद् व साहित्यकार  श्रीमती रेणु हुसैन व  महा मंडलेश्वर  स्वामी मार्तांड्या  पूरी जी थे । इस कार्यक्रम में बनारस विश्वविद्यालय के डॉ फ़िरोज़ समेत जामिया यूनिवर्सिटी,  दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रध्यापक काश्मीर, राजस्थान, गुजरात, डोगरी, मुल्तानी , उत्तर भारत , बिहार, हरियाणा, पंजाब, की विभिन्न बोलियों व भाषा के विद्वान व पत्रकारों, समज सेवियों का भी सम्मान किया गया।

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/ रचनाएँ/ समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखे-  http://shashwatsrijan.com


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां