Subscribe Us

राष्ट्र भारती विद्यालय के बहुआयामी कैलेंडर का विमोचन

उज्जैन। कैलेंडर जीवन की एक आवश्यक दिनचर्या है कैलेंडर होने से व्यक्ति अपने कार्यो को समय पर कर पाता है। कैलेंडर का सभी के जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है। यह विचार अतिथि वक्ताओं ने राष्ट्रभारती विद्यालय के कैलेंडर के विमोचन पर कही। अतिथियों ने कैलेंडर को बहुउपयोगी बताया। विशिष्ट अतिथियों में चिंतामन क्षेंत्र के प्रमुख गणमान्य और विभिन्न पंचायतों के सरपंच मौजूद थे। जिनमें गोठड़ा से श्री संजय आंजना, मंगरोला से श्री यशपाल (गब्बर ), लेकोड़ा से श्री त्रिलोक पटेल, हासामपुरा से श्री शिवराज सिंह, चिंतामन जवासिया से पंडित श्री राजेश शर्मा , श्री रमेश जी वर्मा पूर्व मंडल अध्यक्ष, श्री विक्रम सिंह आंजना ब्रजराज खेड़ी, श्री करणसिंह जवासिया, श्री महेन्द्र दैथलिया गोंदिया जनपद सदस्य, श्री विनोद यादव एक्जीक्यूटिव मेंबर विक्रम विश्वविद्यालय, साहित्यकार डॉ. राजेश रावल गोंदिया, श्री शैलेन्द्र ठाकुर मंगरोला, श्री भरतसिंह सिंह बैस प्रवक्ता किसान संघ मंगरोला, ऋषि मुनि प्रकाशन के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री पुष्कर बाहेती प्रमुख थे। कैलेंडर विमोचन कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीपाल एज्यूकेशन सोसायटी के अध्यक्ष गांधीवादी श्री कृष्णमंगल सिंह कुलश्रेष्ठ वरिष्ठ अभिभाषक ने की। कार्यक्रम में सभी विशिष्ट अतिथियों का, राष्ट्रभारती की डायरेक्टर अमृता कुलश्रेष्ठ, लेखाधिकारी कीर्ति पटेल, प्रधानाध्यापिका नुसरतजहां, एडमिनिस्ट्रेटिव आफिसर मौसम डोंगरिया, फेकल्टी मोहसीन खान, सपना जाम्बुलकर द्वारा पुष्पमालाओं से स्वागत किया गया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अतिथियों ने कहा कि राष्ट्रभारती विद्यालय निश्चित ही इस क्षेत्र के विद्यार्थियों को शिक्षित होने के साथ- साथ संस्कारवान बनायेगा। संस्था डायरेक्टर अमृता कुलश्रेष्ठ ने कहा कि राष्ट्र भारती स्कूल के इस कैलेंडर की प्रमुख विशेषताएं हैं कि इसमें विभिन्न, विशेष जयंतियां, रीति-रिवाज, त्यौहार ,अवकाश का विवरण, सूर्योदय, सूर्यास्त ,शुभ मुहूर्त आदि सभी प्रकार की आवश्यक जानकारी मौजूद है। इस कैलेंडर की खास बात यह है कि इसमें अंकित सभी चित्र वास्तविक है। इन चित्रों में जितनी भी गतिविधियां दिखाई दे रही है वह सभी संस्था की वास्तविकता को प्रदर्शित करती है। कार्यक्रम में अतिथियों को जानकारी देते हुए श्रीमती नुसरत जहां और श्रीमती मौसम डांेगरिया ने राष्ट्रभारती विद्यालय के बारे में कहा कि यह विद्यालय विद्यार्थियों को संस्कार एवं सद्भावना के साथ-साथ उच्च गुणवत्ता के शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है । इसका उद्देश्य अपने आसपास के क्षेत्र एवं लोगों की जरूरतों को ध्यान रखते हुए विद्यार्थियों का विकास करना है। आज इस विद्यालय के कैलेंडर का विमोचन आप महत्वपूर्ण अतिथियों की उपस्थिति में इसी उद्देश्य से किया गया है।
इस अवसर पर उपस्थित अतिथि एवं साहित्यकार डाॅ. राजेश रावल ने कार्यक्रम में राष्ट्रभारती स्कूल की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रकार के विद्यालय कि यहां पर बहुत आवश्यकता थी। चिंतामन और इसके आसपास के क्षेत्र में विद्यार्थियों की शिक्षा और उनके विकास को दृष्टिगत रखते हुए इस स्कूल का निर्माण किया गया है, जिससे यहां के बच्चों को निश्चित ही बहुत लाभ मिलेगा। आपने उपस्थित विशिष्टजनों और अतिथियों के आग्रह पर मालवी कविता भी सुनाई। जिसे सभी अतिथियों ने सराहा। कार्यक्रम में संस्था के श्री युधिष्ठिर कुलश्रेष्ठ ने अतिथियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन चिंतामन जवासिया के सरपंच पंडित राजेश शर्मा द्वारा किया गया।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां