Subscribe Us

बात अच्छे से बना ली जाएगी

हमीद कानपुरी

बात अच्छे से बना ली जाएगी।
अब नहीं टोपी उछा ली जाएगी।

आह मुफलिस की न ख़ाली जाएगी।
हर जगह बन कर सवाली जाएगी।

अच्छी आदत जिसजगह जैसे मिले,
मुस्कुरा कर के उठा ली जाएगी।

गर हुकूमत टिक गयी कुछ और दिन,
दिन ब दिन होती निराली जाएगी!

रूठना आदत हसीं की है मगर,
पुर यकीं हूँ की मना ली जाएगी।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां