Subscribe Us

क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ

रमाकान्त चौधरी
जब पुलिस मुझे बिना हेलमेट पकड़ती है,
तो रिश्वत देकर चालान से खुद को बचाता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

जब मेरा बच्चा कम नम्बर लाता है,
तो टीचर को मिठाई का डिब्बा देकर नम्बर बढ़वाता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

जब मेरी ही गलती होती है तब भी,
थाने में रिश्वत देकर मनमुताबिक एफआईआर दर्ज कराता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

सरकारी नौकरी पाने के लिए,
अधिकारी ,नेता व मंत्री से जुगाड़ लगाता हूँ ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

पात्र न होने पर भी सरकारी योजनाओं का लाभ,
पहले अपने परिवार को दिलाना चाहता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

अपने निजी स्वार्थ के लिए,
चोर लुटेरे भ्रष्टों के साथ मिलकर दंगा कराता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

इलेक्शन के समय जाति-धर्म देखकर,
वोट देने का कर्तव्य निभाता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

बस में भीड़ होने पर महिलाओं को धक्का देकर,
उनकी आरक्षित शीट पर बैठ जाता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

शादी पार्टी में पहले लपक कर ,
अपनों को खाना खिलाने की जुगत लगाता हूँ ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

जो मुझसे कमजोर व लाचार है,
उसे कभी कभी बेवजह धमकाता हूँ,
क्योंकि मै भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां