Subscribe Us

पौधा लगाये


✍️पं. दिनेश तिवारी

आओ हम भी एक

पौधा लगाये अपनी 

हिस्सेदारी का। 

जो जीवन हमने 

जिया है, 

उसकी वफादरी का । 

हम भी अपनी कुछ 

जिम्मेदारी निभाएं ।

आओ हम भी एक

पौधा लगाएं।  

चलती रहेगी दुंनियाँ की

जद्दो जहद। 

आने वाले जीवन को हम

खुशहाल बनाएं। 

आओ हम भी एक 

पौधा लगाएं।

पौधा लगाइये और 

वर्तमान के साथ साथ 

भविष्य को भी 

सजीव बनाये। 

आओ इक पौधा हम 

भी लगाये

 

*इंदौर, म प्र


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब हमारे वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां