Subscribe Us

मुद्दे उठाए जाते हैं


✍️प्रीति शर्मा असीम

मेरे देश में,

मुद्दे उठाए जाते हैं। 

जिंदगी के असल सच से,

लोगों के ध्यान हटाए जाते हैं।

 

घटना को ,

घटना होने के बाद ,

देकर दूसरा ही रुख।

असल घटनाओं पर,

पर्दे गिराए जाते हैं ।

 

मेरे देश में मुद्दे उठाए जाते हैं।

जिंदगी किन,

हालातों में बसर करती है।

 

पंचवर्षीय सरकारों में ,

अमीर- गरीब के मापदंडों में, 

मध्यवर्ग को ,

बस वायदे ही थमाए जाते हैं ।

 

मेरे देश में ,

मुद्दे उठाए जाते हैं। 

 

जागे.....असल पहचानिए।

जो कानों को, सुनाया जाता है।

आंखों को दिखाया जाता है ।

दो रोटी कमाने के लिए,

हम और आप

कितनी लड़ाई लड़ते हैं ।

 

हमें मुद्दों में,

कितना बहलाया  जा रहा है ।

 

*नालागढ़, हिमाचल प्रदेश

 


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब हमारे वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां