Subscribe Us

इतना नहीं आसान








✍️बीना रॉय

 

सत कर्मो से पूर्व जन्मों के 

मिलते हैं गुरु महान।

 गुरु ज्ञान के अभाव में

 मानव रहता अज्ञान। 

 अंतर के तिमिर मिटा कर 

 गुरु देते सच्चा ज्ञान।

 एक श्रेष्ठ गुरु बन जाना भी

 इतना नहीं आसान।

 

भूल कर शिष्य की अशिष्टता

देते वो क्षमा का दान।

कर के दंडित भी कभी - कभी

गुरु बनाते हमें महान।

जीवन संवार दे शिष्य की

गुरु जब ले मन में ठान।

एक श्रेष्ठ गुरु बन जाना भी

इतना नहीं आसान।

 

गुरु महिमा में है छिपी हुई

समस्याओं के समाधान।

सच्चे गुरु के शरणागत हो

जो हृदय से दे सम्मान।

उसपर  वर्षा आशीषों की

करते हैं खुद भगवान।

एक श्रेष्ठ गुरु बन जाना भी 

इतना नहीं आसान।

*गाजीपुर





 


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 



 



 



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां