Subscribe Us

प्रणाम



✍️संगीता ठाकुर 

आओ करबद्ध हम करे प्रणाम

पूर्वी सभ्यता को करे साकार

अपनी सुन्दर संस्कृति–संस्कारों का

आओ तन–मन से करे सलाम ।

आओ करबद्ध ......................।

 

मानव होने का दो पहचान

हर मानव को हम करे सम्मान

पूर्वी सभ्यता को हम मिलकर

आओ दुनियाँ में करे विख्यात ।

आओ करबद्ध हम ..................।

 

कोरोना वायरस हो या स्वायन फ्लू

या हो वायरल का कोई रूप

प्रणायाम से करे हम तनमन मजबूत

भारतवर्ष का है यह मूल मंत्र

आओ मिलकर हम करे सुदृढ़ ।

आओ करबद्ध हम ....................।

 

हम विस्मृत थे खूद को जग में

कोरोना वायरस ने आकर जगा दिया

मानव के सभ्य संस्कारो को

समय आकर फिर से सिखा दिया ।

हाथ नही मिलाना है अब से

दोनों हाथ जोड़ प्रणाम किया

आओ करबद्ध हम...............।

 

जाते–जाते वह दुहराया फिर से

पूर्वी सभ्यता जग में है महान

हर मानव को समझे देव समान

हृदय से करते उन्हे सत्कार ।

आओ करबद्ध ......................।

*काठमांडू नेपाल

 


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां