Subscribe Us

मानसिक सुख 



*सुनील कुमार माथुर


परोपकार करके ही हम 

मानसिक सुख अर्जित कर पायेंगे 

चूंकि 

सामाजिक कार्यों से 

सुयश व प्रभाव में वृध्दि होती हैं 

सभी दिन सुख शान्ति व

समृध्दि देने वालें होते हैं अतः 

समय का सदुपयोग करें 

दूसरों के हित के लिए 

सदैव तत्पर रहिए 

परोपकार करके ही हम 

मानसिक सुख अर्जित कर पायेंगे 

सदा मस्त रहें  , व्यस्त रहें 

दूसरों की मदद के लिए 

सदैव तत्पर रहिए 

अपनें दुःख को छिपाकर भी

सदा मुस्कुराते रहें 

तभी समाज में 

यश , मान व प्रतिष्ठा में वृध्दि होंगी 

सामाजिक कार्यों से 

सुयश व प्रभाव में वृध्दि होंगी 

वाद विवाद से सदा बचें 

वाणी पर संयम रखें 

ईश्वर की वंदना करें 

बडों का सम्मान करें 

समय - समय पर दान पुण्य करें 

समाज के कार्यों में 

उत्साह के साथ भाग ले

परोपकार करके ही हम 

मानसिक सुख अर्जित कर पायेंगे 

क्रोध पर नियंत्रण रखें तभी

परिवार में उत्साह का माहौल रहेंगा 

निजी जीवन में जहां जरूरत हो 

वहां कठोर निर्णय अवश्य ले

व्यस्त रहें  , मस्त रहें 

प्रियजनों के साथ 

समय का सदुपयोग करें 

परोपकार करके ही हम 

मानसिक सुख अर्जित कर पायेंगे 

सदा याद रखना 

यदि आपकी दृष्टि सुन्दर हैं तो 

आपकों दुनियां अच्छी लगेगी और यदि

आपकी वाणी सुन्दर हैं तो 

आप दुनियां को अच्छे लगेंगे 

 

*जोधपुर राजस्थान 

 


अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।


साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com


यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw 



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां