Subscribe Us

बेटियों की सुरक्षा










 

*राजेश पुरोहित*

 


आगत का स्वागत नवागत का स्वागत करें।

करें विस्मृत अतीत को वर्तमान से सन्तुलन करें।।

 

आँख नम हो गई सुन शहीदों के परिवार की बातें।

आओ हम वतन की हिफाजत के रखवालों की बात करें।।

 

दे सके न जान सरहद पर भले ही हम दोस्तों।

मगर देश हित छोटे छोटे काम अवश्य शुरू करें।।

 

हम सुभाष आज़ाद भगतसिंह के देश से हैं याद रखो।

स्वाभिमान से स्वच्छन्द उड़ने की फिर से बात करें।।

 

बेटियों को बचाने का नारा देकर चुप जो बैठ गए।

उनको जगाकर बेटियों की सुरक्षा की बात करें।।

 

*राजेश पुरोहित, भवानीमंडी



 









 



साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/ रचनाएँ/ समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखे-  http://shashwatsrijan.com

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां